Radhakrishna quotes in Hindi


        दोस्तों,
                  आज मे आपको थोड़ी भक्ति के बारे मे बताना चाहता हूँ। आप भगवान श्रीकृष्ण के बारे मे तो जानते ही होंगे। उनका एक प्रसिद्ध श्लोक है वो आपको पता होगा? नही पता है। तो चलिए मे बताता हूँ। :-
    यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत ।                        अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम् ।।   
             इसका अर्थ हिन्दी में ये होता है कि " जब-जब धरती पर अधर्म बढता है, कृष्ण को स्वयं धरती पर आना पडता है, उस अधर्म को मिटाने और हमें याद दिलाने की, जिस शक्ति को हम ढूंढ रहे हैं, वो हमारे भीतर ही है।" ऐसे ही मे आपको आपकी भीतर रहेली शक्ति के बारे में बताऊंगा। आप कैसे आप अपने अंदर भगवान श्रीकृष्ण के गुण उतार सकते हैं।
            अगर आप जानते हैं तो भगवान श्रीकृष्ण और राधाजी वो दोनों एक दूसरे से प्रेम करते थे। उनकी कुच्छ बातें हैं जो मे आपको Quotes द्वारा बताना  चाहता हूं। आप इस Quotes के द्वारा आप प्रेम, भय, समय.......... वगेरे आप इस Quotes के द्वारा सीख सकते हो। नीचे आपको बहोत सारे भगवान श्रीकृष्ण और राधाजी के Quotes मिल जायेगे। तो चलिए अब शरुआत करते हैं।



(1)      "इन्द्रियों को श्रेष्ठ कहा जाता है।
            मन इन्द्रियों की अपेक्षा श्रेष्ठ है।
            किंतु बुद्धि मन से भी श्रेष्ठ है।
            एवं बुद्धि से भी श्रेष्ठ है वह आत्मा है।"
                                                          - राधे राधे

(2)      "यदि प्रेम को समझना है,
            तो तन की नही मन की आँखे खोलो,
            क्योंकि सच्चा प्रेम, रुप से नही,
            भाव से जुडा होता है."
                                                          - राधे राधे

(3)      "अगर प्रेम को पाना है,
            तो मन को निर्मल करना होगा,
            अपनी इच्छाओ और सुख का त्याग करेगे,
            तभी तो मन को प्रेम से भर पाएंगे."
                                                          - राधे राधे

(4)      "प्रेम तभी सफल होता है,
            जब हम अपने कर्तव्यों को
            पूरी तरह से निभाते हैं."
                                                          - राधे राधे

(5)      "स्वतंत्रता का भाव सबको प्रिय होता है।
            इसलिए, अगर सच्चे प्रेम को पाना हो,
            तो उसे स्वतंत्र छोड़ दो!"
                                                          - राधे राधे

(6)     "जो व्यक्ति प्रेम बांटता है,
           वो हमेशा के लिए दूसरों,
           के मन मे जीवित रहता है!"
                                                          - राधे राधे

(7)      "अगर जीवन खुलकर जीना है,
            तो मन में भरे हुए विचारों  को
            खाली करना होगा."
                                                          - राधे राधे
                                               
(8)      "संवाद से मिल सकता है
            हर बात का समाधान और
            खुलकर संवाद  करने से
            संभल जाएगा आपका
            भविष्य और वर्तमान...."
                                                          - राधे राधे

(9)       "प्रेम और मोह को हमेशा अलग रखना चाहिए,
             यदि वे आपस मे मिल जाए तो स्वार्थ बन जाते है।"
                                                          - राधे राधे

(10)     "अगर अपने अस्तित्व का विस्तार करोगे,
             तो स्वार्थ स्वयं ही परमार्थ  मे बदल जाएगा।"
                                                          - राधे राधे

(11)    "भूल हमे अवसर देती है कि हम अपना प्रदर्शन
             सुधारेंगे,
            बस आवश्यकता है, की हम उस भूल को स्वीकारे."
                                                          - राधे राधे

(12)    "मनुष्य की पहचान,
            उसके रुप या पहनावे से नही,
            बल्कि उसके मन और
            उसके गुणो से होती है।"
                                                          - राधे राधे

(13)    "जो आपके पास है, आपका संसार है,
            उसमे खुश रहना सीखिए...............,
            क्योंकि भले ही आप मानते हो की
            आप संसार के लिए कुच्छ नहीं,
            पर कुच्छ लोगों के लिए आप पुरा
            संसार हैं।"
                                                          - राधे राधे

(14)    "रिश्ते बनाना आसान है,
            लेकिन उन्हें निभाना बहुत कठिन।
            जितना गहराई मे जाकर हम उन्हे निभाएगा,
            उतना ही वो अटूट बनेंग।"
                                                          - राधे राधे

(15)     "मौन जितना उचित है,
             समय आने पर अपनी वाणी
             का सदुपयोग करना भी उतना
             आवश्यक है।"
                                                          - राधे राधे

(16)    "अपनी क्षमता को जानकर,
            यदि पुरी दृढता से हम कोई
            भी कार्य करेगे तो वो अवश्य सफल होगा।"
                                                          - राधे राधे

(17)     "समय का सदुपयोग तब होगा,
             जब हम आज को बहेतर बनाने
             के विषय मे सोचेगे..........,
             न कि भविष्य की चिंता में
             समय व्यतीत करते हुए।"
                                                          - राधे राधे

(18)    "अपनी हर समस्या के लिए
             संसार या ईश्वर को दोष न दे,
             बल्कि अपने परिश्रम से किसी
             के नर्क को किसी का स्वर्ग बनाए!"
                                                          - राधे राधे
(19)    "गुस्से में हम स्पष्ट रूप से सोचने की क्षमता खो देते है
             इसलिए जीवन में जब भी आपको गुस्सा आए,
             तो अपने मन को शांत रखने की कोशिश करे।"
                                                          - राधे राधे
(20)    "भूत और भविष्य का डर हमारे मन में सदैव  ही रहते
             हैं,
             अपने वर्तमान के कर्मो को सच्चे मन से करीए,
             इससे भूत और भविष्य का डर दोनो ही मिट
             जायेगा।"
                                                          - राधे राधे
(21)    "परिवर्तन ही प्रकृति का नियम है। इसीलिए,जो पीछे
            छूट गया उसका शौक मनाने की जगह जो आपके
            पास है, उसका आनंद उठाना सीखिए।"
                                                          - राधे राधे
(22)    "कोई व्यक्ति आपके पास किसी भी भाव से आए,
            उसका तिरस्कार करना उचित नही।
            उसकी भावनाओ को समझे,
            उससे मित्रता करे।"
                                                          - राधे राधे
(23)    "अगर कुछ मागने के लिए करोगे,
            तो वो मित्रता नही।
            अगर कुछ पाने के लिए करोगे,
            तो वो प्रेम नही।"
                                                          - राधे राधे
(24)    "किसी की सहायता लेने मे कोई बुराई नही है,
            परन्तु इस सहायता का आदी होना सही नही......
            दुसरो से सहायता लेते रहे,
            तो हम कभी अपना मार्ग स्वयं नही बना पाएंगे........
            और सदैव सहायता करने वाले के ॠणी हो जाएंग!"
                                                          - राधे राधे
(25)    "पहचान से मिला काम
            अधिक समय तक नहीं टिकेगा,
            मगर काम से मिली पहचान
            युगों-युगों तक रहेगी!"
                                                          - राधे राधे
(26)    "जीवन में कोइ संघर्ष करने होगे,
            परन्तु हम हर समय जीत के लिए प्रयास करते रहेना
            चाहिए।
            मेदान मे हारने वालो को अवसर मिलेंगे,
            पर मन से हारने वालो को नही।"
                                                          - राधे राधे
(27)    "कोई भी कार्य यदि प्रेम से किया जाए,
            तो वो अवश्य सफल होगा,
            प्रेम से प्रयास करना,
            हमे जीवन मे आगे बढने की प्रेरणा देता है।"
                                                          - राधे राधे
(28)    "शुद्धता भावो की, मिठास प्रेम की और प्रयास आत्मा
             का...........
             इन तीनों को मिलाकर ही मिलेगा असली आनंद!"
                                                          - राधे राधे
(29)      "जो आपकी मुस्कान के पीछे की पीड़ा,
              आपके क्रोध के पीछे छुपा प्रेम और,
              आपके मौन के पीछे छुपी आपकी भावनाओं को
              समझता है,
              उसके साथ विश्वास का बंधन आपके जीवन को
              सवार देगा!"
                                                          - राधे राधे
(30)      "सफल वो होते हैं, जो अपनी सोच से इस संसार को
              बदल देते हैं और
              असफल वो, जो इस संसार के भय से अपनी सोच
              को ही बदल देते है।"
                                                          - राधे राधे
(31)      "हमारे जन्म से ज्यादा, हमारा भविष्य हमारे चयन                  पर निर्भर करता है....
              इसलिए, अच्छी तरह से सोच-समझकर चयन   
              करना एक उज्जवल भविष्य के लिए अनिवार्य है!"
                                                          - राधे राधे

(32)      "भले ही आप आकाश में ऊंची उडान भर ले,
              लेकिन इस भूमि से, अपना नाता न भूलें, उन लोगों                को न भूलें, जो आप की इस सफलता का आधार
              है।"
                                                          - राधे राधे

(33)      "अपने द्रष्टिकोण को सदैव सकारात्मक रखने का
              प्रयास करे.......
              क्योंकि संसार में बुरी द्रष्टि का इलाज है, पर बुरे 
              द्रष्टिकोण का नहि!"
                                                          - राधे राधे

(34)    "यदि आप समय का सम्मान करेगे,
            तो संसार भी आपका सम्मान करेगा!
            क्योंकि अच्छा समय संसार को अपनी वास्तविक                  बताएगा,
            और बुरा समय आपको संसार की वास्तविक
            बताएगा।"
                                                          - राधे राधे           
(35)     "हमें अपनी स्मृति में क्या सहेज कर रखना है,
             ये हम पर निर्भर करता है!
             क्योंकि भूलने वाली बात अगर रखेगे याद,
             तो वही बनती है विवाद!"
                                                          - राधे राधे

(36)     "जो सत्कर्मों एव परोपकार करते हैं,
             उन्हें अपनी चिंता करने की कोई आवश्यकता नहीं,
             क्योंकि उनके अच्छे कर्म सदैव उनके साथ ढाल                     बनकर रहते हैं!"
                                                          - राधे राधे

(37)      "मनुष्य एकत्रित करता रह जाता है,
              परन्तु न तो उसके मन की भुख मिटती है,
              न ही शरीर की, इसलिए हंमेशा अच्छे कर्मो
              को एकत्रित करना चाहिए,नही तो
              इस संसार से भूखे ही जाना पडेगा!"
                                                          - राधे राधे
          

Post a comment

0 Comments